वो सिर्फ अपने काम से काम रखती थी ..! 😀😀


एक बच्चा बगीचे की बेंच पर अकेला बैठा हुआ था. और जेब से एक के बाद एक चॉकलेट निकालकर खा रहा था. यह देखकर बाजू की बेंच पर बैठी एक महिला ने बच्चे से बात करने लगी,

महिला - " तुम्हे पता है ? ज्यादा मीठा खाने वाले लोग जल्दी मर जाते है. "

बच्चा - " अच्छा 😮 !! तुम्हे पता है मेरी दादी माँ 109 साल जिये थे..  "

महिला - " वो तुम्हारी तरह इतना ज्यादा मीठा नही खाते होंगे "

बच्चा - " नही, वो अपने काम से क

Bajra Masala Roti Recipe - (5 Steps) | कभी खाई है ऐसी बाजरा मसाला रोटी ?

Bajra Masala Roti Recipe


{रेसिपी}, Bajra Masala Roti Recipe : जब ये पोस्ट लिखी जा रही है तब बारिश का मौसम पूरा होने को है और ठंड का मौसम शुरू होने को. मौसम का सीधा असर हमारे शरीर और सेहत पर पड़ता है.

शरीर को अगर मौसम अनुसार खुराक न मिले तो बीमार होना लाजमी है. शर्दियो के दिनों में शरीर को अंदर से गर्मी मिलनी चाहिए जिससे बाहरी ठंड शरीर को नुकसान न पहुंचा सके.

शरीर को अंदरूनी गर्मी देने के लिए कई Food है. इनमे से एक है Bajra. बाजरा बहोत से लोगो का प्रिय Lunch है. खास कर उन लोगो का जिनका काम काज मशक्कत और महेनत वाला होता है.

ऐसी ही एक बाजरे की Recipe प्रस्तुत लेख में स्टेप बाय स्टेप सिखाई गई है. तो चलिए जानते है Bajra Masala Roti Recipe. 


Bajra Masala Roti Recipe - hindi fun box - Recipe in hindi

Ingredients for Bajra Masala Roti Recipe



  • 250 ग्राम - बाजरे का बेसन 
  • 100 ग्राम - गेहूँ का बेसन
  • 250 ग्राम - खट्टा दही
  • 1 पुड़िया - मेथी की भाजी
  • 2 - हरी मिर्च
  • 1 छोटा चम्मच - हल्दी
  • 1/2 छोटा चम्मच - अदरक लहसुन की पेस्ट
  • 1 छोटा चम्मच - मिर्च पावडर
  • 1 चुटकी भर - हींग
  • 3 - कटे हुए प्याज
  • स्वादानुसार - तेल, नमक, गरम मसाला


Bajra Masala Roti Recipe Step By Step


1). सबसे पहले मेथी की भाजी को धो कर जितना हो सके बारीक़ काट लें. फिर बाजरे और गेहूँ के बेसन को एक मध्यम बर्तन में मिलाएं.

2). अब दोनों बेसन के साथ में तेल, नमक, मिर्च पावडर, गरम मसाला, अदरक लहसुन की पेस्ट और हींग डाल दें. और बिना पानी मिलाएं बेसन हाथो से कड़क बांधे.

3). दोनों बेसन / सभी मसाले मिलाने और इस मिश्रण को कड़क बांधने के बाद अब बेसन के बर्तन में थोड़ा पानी डालें और एक घंटे तक रहने दें.

4). एक घंटे के बाद जब बेसन का कड़क मिश्रण रोटी बेलने लायक नर्म हो जाए तब उसमें से छोटे छोटे टुकड़े ले कर रोटी की तरह लेकिन मोटी परत में बेलें.

5). अब बेल कर तैयार हो चुकी बाजरे की रोटियों को एक पैन में तेल डालकर ऊपर नीचे दोनों तरफ बराबर तलें. लीजिए तैयार है गरमा गरम  Bajra Masala Roti Recipe इसे कटे हुए प्याज के साथ सर्व करें. Bajra Masala Roti Recipe और प्याज के कॉम्बिनेशन से लाजवाब स्वाद मिलता है.



अगर आपको ये Bajra Masala Roti Recipe लेख पसंद आए तो इसे फेसबुक पर भी शेयर करें

दो बाज - प्रेरक कहानी, जो आपको बहुमूल्य सीख देती है


किसी मुल्क में एक एक बहोत ही न्यायप्रिय राजा रहा करते थे. वह न्यायप्रिय होने के साथ साथ अपने राज्य के हर छोटे से छोटे और गरीब से गरीब व्यक्तियों के साथ भला बर्ताव करता था. जिस वजह से अपनी प्रजा में वो बेहद लोकप्रिय थे. 

लोगो का उनके प्रति प्रेम इस कदर गहरा था कि हर कोई आए दिन राजा को अपनी हैसियत के मुताबिक तोहफे दिया करता. वहीं राजा भी उनको अपने शाही खजाने से तोहफे देकर बदला दिया करते. 

ऐसे ही एक दिन राजा को तोहफे में दो परिंदे (पक्षी) मिले. वो परिंदे असल में ऊंचे किस्म के बाज थे. राजा ने अपनी पूरी जिंदगी में ऐसे बाज पहले कभी नही देखे थे. इतना नायाब तोहफा पाकर वो खुश हुए और अपने खास वजीर को कहा कि दोनों बाज पक्षी के लिए खान-पान का इंतजाम करें फिर उन्हें शाही बागीचे में उड़ने के लिए छोड़ दिया जाए. वजीर ने ठीक वैसा ही किया जैसा उन्हें कहा गया. 

अगले दिन राजा ने दरबार का कामकाज निपटाकर वजीर से उन दो बाज पक्षी का हालचाल पूछा. वजीर ने बताया कि दोनों बाज में से एक बाज ऊंची उड़ान भर रहा है मगर दूसरा बाज एक पेड़ की टहनी पर बैठा हुआ है और उड़ नही रहा. 

राजा हैरान हुए की बाज तो दोनों एक ही किस्म के है तो दूसरा बाज उड़ान भरने की बजाय पेड़ पर क्यों बैठा रहता है ? 

इसी तरह घंटे दिन और दिन महीनों में ढल गए लेकिन वह बाज न उड़ सका. आखिर राजा ने राज्य में वजीर को कहा कि पूरे राज्य में घूमकर कहीं से भी किसी ऐसे व्यक्ति को ले आओ जो बरसों जंगलो में गुजार चुका हो और जिसे परिंदो की चाल-चलगत का अनुभव हो. 

तलाश के बाद वजीर ने एक बूढ़े आदमी को राजा के सामने पेश किया और बताया कि ये पक्षियों के हावभाव जानने में माहिर है. राजा ने उस आदमी को दोनों बाज पक्षियों के बारे में बताया और कहा कि एक बाज पेड़ की टहनी पर ही दिन-रात गुजार देता है जब कि दूसरा बाज ऊंची उड़ान भरता है. 

आदमी ने राजा से एक दिन की महोलत मांगी. एक दिन के बाद जब राजा अपने शाही बागीचे में टहलने निकले तो देखा कि दोनों बाज ऊंची उड़ान भर रहे थे. राजा हैरान हुए की इस आदमी ने ऐसा क्या कर दिखाया कि एक ही दिन में बाज पेड़ की टहनी छोड़कर ऊंचा उड़ रहा है !!

राजा ने उस बूढ़े आदमी को दरबार मे बुलाया और इसकी वजह पूछी. बूढ़े आदमी ने जवाब दिया कि मैंने और तो कुछ खास नही किया बस पेड़ की जिस टहनी पर बाज बैठा करता था मैंने वो टहनी काट दी. 

ये कहानी हमारी जिंदगी के लिए बहोत बड़ा सबक है. हमे जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए मौके तो बहोत मिलते है लेकिन हम अपनी सुख-सुविधाओं और बेमतलब परंपराओं से बाहर कदम ही नही रखना चाहते. नई परीक्षा और नए तजुर्बे जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए जरूरी है. 

अंधो की संख्या - अकबर बीरबल के मजेदार किस्से

akbar birbal kahani - andho ki sankhya - hindi fun box - akbar birbal photo

अकबर और बीरबल के किस्से केवल मजेदार ही नही होते बल्कि उसे पढ़कर हमारी तर्कबुद्धि में भी बढ़ोतरी होती है. ऐसा ही एक किस्सा है जिसका शीर्षक है "अंधो की संख्या". क्या है ये किस्सा और किस तरह बीरबल ने अपने  बुद्धिचातुर्य से अकबर का मन मोह लिया आइए जानते है..

एक बार अकबर दरबार में बैठे हुए थे कि अचानक उनके मन में एक सवाल उठ खड़ा हूआ. दरबार भरा हुआ था और अकबर ने सीधे बीरबल से संबोधन करते हुए कहा, " बताओ, बीरबल हमारे पूरे नगर में किसकी संख्या ज्यादा होगी ? अंधो की जो देख नही सकते ? या उनकी जो अंधे नही है और देख सकते है ?"

इस तरह अचानक भरे दरबार में बीरबल पर आ पड़े इस सवाल से वह हक्के-बक्के रह गए. लेकिन पलभर में स्वस्थ होकर उन्होंने जवाब दिया, "महाराज, इस वक्त फौरन तो आपके सवाल का जवाब दे पाना कठिन है.  हांलाकि इस बारे में मैं निश्चिन्त हूँ कि पूरे नगर में देख सकने वाले व्यक्तियों की संख्या से अधिक अंधे व्यक्तियों की संख्या होगी. "

अकबर : " यह तुम कैसे कह सकते हो ? तुम्हे यह साबित करके दिखाना होगा "

बीरबल : " बिल्कुल, अगर आप मुजे एक दिन की महोलत दें तो मैं इस बात को साबित भी कर दूंगा और इसकी सही सही संख्या भी बता पाऊंगा "

अकबर : " ठीक है, तुम्हे एक दिन का वक्त दिया जाता है "
उस दिन दरबार छूटने के बाद अगले दिन सुबह बीरबल दरबार नही गए बल्कि एक बगैर बनी हुई चारपाई लेकर नगर के मुख्य बाजार में बैठ गए और रस्सी से चारपाई की बुनाई करने लगे. उस वक्त बीरबल के साथ दो आदमी भी थे जी कागज और कलम लेकर बैठे थे.

बीरबल को अकबर के दरबार के बजाय यूं बीच बाजार चारपाई बुनते हुए देख नगरजन आश्चर्यचकित और हैरान रह गए. तथा बीरबल से इस तरह चारपाई की बुनाई करने का कारण पूछने लगे.

बीरबल से जो व्यक्ति भी बुनाई करने की वजह पूछता बीरबल उसका नाम बगल में बैठे आदमी को लिखने को कह देते. ऐसे होते होते आधा दिन गुजर गया और अनेक व्यक्ति बीरबल से मिले, कारण पूछा और बीरबल ने उसका नाम लिखवा लिया.

वहीं दूसरी और दरबार में बीरबल की गैरहाजरी से अकबर बेचैन हो उठे. दरबारियों से पूछताछ करने पर मालूम हुआ कि बीरबल तो नगर के मुख्य बाजार में चारपाई की बुनाई कर रहे है. बीरबल को मन ही मन गुस्सा आया कि मैं यहां दरबार में कल पूछे सवाल के जवाब की प्रतीक्षा कर रहा हूँ और वो बीच बाजार में बुनाई करने के मामूली काम मे व्यस्त है.

अकबर अपने अंगरक्षकों के साथ दौड़े-दौड़े नगर के बाजार पहुंचे. देखा कि बीरबल चारपाई बुनने में इतने व्यस्त हैं कि नजर उठाकर उनकी तरफ देख भी नही रहे. अकबर बीरबल के करीब पहुंचे और पूछा, " बीरबल यह बीच बाजार तूम क्या कर रहे हो, वहां दरबार मे मैं तुम्हारी राह देखते देखते थक गया.. "

बीरबल ने देखा कि अकबर खुद दरबार छोड़कर उनके पास आए है और सवाल कर रहे है. बीरबल ने बगल में बैठे आदमी से अकबर का नाम भी कागज में लिख लेने को कहा.

अकबर ने जब बीरबल से नाम लिखने की वजह पूछी तो बीरबल ने कहा, " आपका नाम उन व्यक्तियों की सूची में लिखा गया है जो आंखे होने के बावजूद अंधे है, क्योंकि आपने देखा कि मैं चारपाई बुन रहा हूँ फिर भी आपने मुझसे सवाल पूछा कि मैं क्या कर रहा हूँ.."

इतना कहकर बिरबल ने बगल में बैठे दोनो आदमियों से कागज लेकर शाह अकबर को दिए फिर बोले, "महाराज, ये लीजिए ये दोनों कागज में उन लोगों की सूची है जो देख सकते है और उनकी भी जो देख नही सकते.

और इसमें मेरे कहे अनुसार देख सकने वाले व्यक्तियों की संख्या से अधिक अंधे व्यक्तियों की संख्या है. ये वह व्यक्ति है जो आंखे होने के बावजूद और ये देखने के बावजूद की मैं चारपाई बुन रहा हूँ मुझसे पूछा कि मैं क्या कर रहा हूँ.

बीरबल की बात सुनकर अकबर को अपने सवाल का जवाब मिल गया. और इसी तरह बीरबल ने एक बार फिर अपनी बुद्धिमत्ता का परिचय दिया.

Cooking Tips | 9 बेस्ट कुकिंग टिप्स, जो खाने को बनाएगी दमदार | Rasoi Tips

Cooking Tips : {किचन टिप्स}, लगभग हर भारतीय नारी वो Indian Cooking Tips and Tricks जानना चाहती है जो उसके समय की बचत करे. इंटरनेट पर ऐसी बहोत सी Cooking Tips and Techniques पहले से मौजूद है. फिर भी कई Easy Cooking Tips जो वाकई में बिल्कुल ही आसान सरल और ईजी होती है लेकिन सही समय पर जानकारी न होने की वजह से उसका उपयोग नहीं कर पाते खास कर Kitchen के काम से बिन-अनुभवी या नवविवाहित भारतीय नारी.

Cooking tips - kitchen tips in hindi - hindi fun box - rasoi tips

इस लिए ऐसी ही कुछ Basic Cooking Tips for Beginners इस लेख में प्रकाशित की जा रही है. और ये Cooking Tips in Hindi तथा Hinglish भाषा में है जिससे हर कोई को सहायक हो. इस किचन टिप्स के अलावा अगर आप Cooking Tips Video फॉर्मेट में देखना / पढ़ना चाहे तो यहाँ क्लिक करें.

Cooking Tips - 1 to 3 


1). अगर आप आलू कि सुखी भाजी या सब्जी बना रहे है तो उसमें एक बड़ी इलायची डाल दें इससे एक नया ही स्वाद चखने को मिलेगा.

2). किसी भी सब्जी का तड़का (बघार) लगाते समय तेल में सबसे पहले हल्दी पावडर डालें. इससे गर्म तेल के छींटे कम उड़ेंगे / नही उड़ेंगे.

3). आप सब्जी बना रही है और उसकी ग्रेवी गाढ़ी रखना चाहती है तो ग्रेवी में घी में सेंका हुआ एक ब्रेड क्रश कर के डाल दें. इससे सब्जी की ग्रेवी गाढ़ी भी होगी और स्वादिष्ट भी.

Cooking Tips - 4 to 6


4). अगर सब्जी में मिर्च ज्यादा पड़ जाए तो जरूरत अनुसार उसमे टॉमेटो सॉस या दही मिला दें. इससे सब्जी में तीखा स्वाद कम हो जाएगा.

5). हरे मटर या हरे चने जैसे हरे दानो की सब्जी में दानो का हरा रंग बरकरार रखने के लिए सब्जी बनाते समय चुटकीभर शक्कर डाल दें. इससे सब्जी में पकने के बाद भी दानो का हरा रंग दिखेगा.

6). आप टमाटर का छिलका आसानी से उतारना चाहते है तो टमाटर पर हल्का तेल लगाकर उसे सेंक लें. फिर टमाटर के छिलके आसानी से उतर जाएंगे.

Cooking Tips - 7 to 9


7). परोठे का आटा बनाते समय उसमे एक उबला हुआ आलू और चम्मच भर अजवाइन अच्छे से मिला दीजिए. लाजवाब स्वाद मिलेगा.

8). आप परोठे को क्रिस्पी और कुरकुरा बनाना चाहते है तो परोठे को मक्खन से सेंके.

9). अंकुरित अनाज को फ्रिज में रखने से पहले अनाज पर चम्मच भर निम्बू का रस छिड़क दें. फ्रिज में बदबू नही आएगी.



9 Most Helpful Cooking Tips in Hinglish  


Cooking Tips : Lagbhag har Indian housewife wo indian cooking tips and tricks janna chahti hai jo uske time ki bachat kare. Waise to bahot si cooking tips and techniques internet par pahle se hi available hai. Fir bhi kai easy cooking tips jo waqai me easy hoti hai lekin sahi samay par jankari na hone ki vajah se uska istemal nahi kar pate khas kar beginners ke lie. 

Is lie esi hi kuchh basic cooking tips for beginners is article me publish ki gai hai. Aur ye cooking tips in hindi aur Hinglish me hai jisse har koi ke lie helpful ho sake. Is article ke alawa cooking tips video dekhna chahe to upar 2nd paragraph me di gai link par click kar dekh sakenge. 

1). Agar aap aaloo ki sabji yaa bhaji bana rahe hai to usme ek badi ilaychi daal den. Isse ek naya hi test chakhne ko milega. 

2). Kisi bhi sabji ka tadka (Baghar) karte samay tel me sable haldi powder dalen. Isse garam tel ke chhinte kam udenge athva nahi udenge.

3). Agar aap sabji bana rahi hai aur gravy hard rakhna chahti hai to gravy me ghee me senkaa hua ek bread krush kar ke daal den. Isse sabji ki gravy hard bhi hogi aur testy bhi. 

4). Kabhi kabhi sabji banate samay sabji me mirch jyada pad jati hai. Ese me sabji ke mishram me jarurat anusar tomato sos ya dahi mila den. isse sabji me teekha swad kam ho jaega. 

5). Green matar ya green chane jaise green color ke dano ki sabji me green color barakarar rakhne ke lie sabji banate samay usme chutki bhar shakkar daal den. Isse sabji me pakne ke bad bhi Greenery dikhegi. 

6). Tamatar ka chhilka asani se utarne ke lie tamatar par halka tel lagakar use senk len. Fir tamatar ka chhilka utarne par chhilka asani se utar jaega.

7). Parathe ka aata banate samay usme ek boil kiya hua aloo aur chammch bhar ajwain achche se mila dijie. Lajwab swad milega. 

8). Parathe ko crispy aur kurkura banane ke lie paratho ko makkhan se senke. 

9). Ankurit anaj ko fridge me rakhne se pahle anaj par ek chammch bhar nimbu ka ras chhidak den. Isse fridge me anaj ki badbu nahi aaegi. 

अगर आपको ये Easy Cooking Tips पसंद आए तो इसे फेसबुक पर भी शेयर करें.