Search This Blog

09 October 2017

Damar Kaise Banta Hai - सडक को ठोस मजबूती देने वाला डामर कैसे बनता है ?

Damar Kaise Banta Hai : {By HFB}, आम बोलचाल में डामर के नाम से जाने जानेवाले काले और सख्त पदार्थ से तो लगभग कर कोई वाकिफ है.

ये तो हर कोई जानता है कि हमारे यहाँ सड़के और फुटपाथ बनाने के लिए Damar का इस्तेमाल होता है. लेकिन Damar बनता कैसे है ? Damar की शोध कब हुई और Damar के अन्य उपयोग के बारे में अधिक जानकारी इतनी प्रचलित नही है.

इसलिए प्रस्तुत लेख में हम ये जानेंगे की डामर के मुख्य उपयोग और अन्य उपयोग क्या क्या है ? डामर का उत्पादन कहाँ और कैसे किया जाता है ? और डामर की शोध कब हुई ?


Damar Kaise Banta Hai - GK in Hindi -  Hindi fun box

डामर के अन्य नाम / Damar in English


हम हिंदी में जिसे डामर के नाम से जानते है उसे अंगेजी में एस्फाल्ट (Asphalt) या बिटुमेन (Bitumen) कहा जाता है. इस पदार्थ का गुणधर्म और कार्य किसी दो ठोस सतह को जोड़ने के लिए किया जाता है.

एसफाल्ट यूनानी भाषा का एक शब्द है जिसका मतलब ठोस या दृढ़ होता है. जैसा की डामर का गुणधर्म है.

डामर का इतिहास / Damar ka Itihas


डामर का उपयोग पुरातन समय से होता आ रहा है. प्राचीन इजिप्त - Egypt, ग्रीस - Greece, और बेबीलोन - Babylon में घरों की दीवारों को बारिश की नमी से होने वाले नुकशान से बचाने हेतु पिघले हुए डामर की परत लगाई जाती थी.

माना जाता है कि भारत में डामर का सर्वप्रथम उपयोग 3000 ई.स. पूर्व मोहें जो दरो नामक स्थान पर पानी की टंकियों की मरम्मत हेतु किया गया था.

डामर कैसे बनता है ? Damar Kaise Banta Hai


Damar पृथ्वी की अंदरूनी सतह में से पाए जाने वाले प्रवाही तथा घन पदार्थो में से एक है. या यूँ कहे की जो सामग्री पृथ्वी की सतह और समुद्र के तल के नीचे से प्राप्त होने वाले पेट्रोलियम से वर्गीकृत की जाती है उनमें से एक डामर है.

पृथ्वी और समुद्र की सतह के अंदर मृत पशुओं के अवशेष तथा अनेक प्रकार के खनिज और पदार्थो पर प्रचंड कुदरती दबाव बनता है. लाखो वर्षो से एक नियमित समय से चली आ रही इस प्रक्रिया के परिणाम स्वरूप पृथ्वी और समुद्र की सतह में एक अत्यंत गाढ़ा अर्ध ठोस / प्रवाही पदार्थ बनता है.

इस पदार्थ को आधुनिक मशीनरी की मदद से बाहर निकाल कर वर्गीकृत किया जाता है. जिसमे पेट्रोल, ऑयल, डीजल, केरोसिन जैसे तरल प्रवाही तथा डामर जैसे सख्त पदार्थ भी शामिल है.

डामर के उपयोग / Damar ka Upyog


डामर एक ऐसा पदार्थ है जिसे एक निश्चित तापमान पर गरम करने से अर्ध ठोस बन जाता है. वहीँ ठंडा होने पर वह अत्यंत सख्त और लगभग किसी भी सतह से सख्ती से चिपक जाता है.

हम जिस मजबूत सड़क पर चलते है और फर्राटे से अपने वाहनों को भगाए जाते है. उस सड़क की मजबूती असल में डामर की आभारी है. Damar का सबसे प्रचलित उपयोग सड़क और फुटपाथ बनाने में ही होता है.

इसके अलावा पानी के रिसाव को रोकने और विद्युत के अवाहक पदार्थ के तौर पर भी डामर का इस्तेमाल होता है. कई Electric उपकरणों में भी डामर का उपयोग होता है.

आपको Damar Kaise Banta Hai का यह लेख पसंद आया हो तो फेसबुक और WhatsApp पर भी शेयर कर सकते है.

  डामर के बारे में तो हमने जाना की Damar Kaise Banta Hai लेकिन अगर आपके मन में भी इस प्रकार के अन्य कोई सवाल है जिसका जवाब आप जानना चाहते है तो हमे अपना सवाल कमेंट करें।  

11 comments:

विजय जोशी said...

बहोत बढ़िया, ब्लॉग पर एक नए विभाग का स्वागत है।

Hindi Fun Box said...

@विजय जोशी

जी, बहुमूल्य प्रतिभाव के लिए धन्यवाद

Shashank said...

Us gais ke bare me ku6 bataiye jise sunghne se insan hasne lagta hai ?

Hindi Fun Box said...

@ Shashank

Ji, Ham aapki request pending post ke lie rakh rahe hai. Jald hi post karenge.

Sahil said...

Duniya ka sabse bada pakshi kaun sa hai ?

Hindi Fun Box said...

@ Sahil

Aap ye post dekhen - ये है दुनिया का सबसे बड़ा पक्षी ?

Upendranayak officials said...

Ye milta kaha hai isko koe thikana to hoga

rahul kamble said...

Galaxy k bare me jankari dedo na bhai thoda

Unknown said...

Ye natural hi hota hai

Unknown said...

Nitrous oxide

Unknown said...

Nitrous oxide