16 June 2019

Mind Blowing Hindi Stories about Life | This story Change Your Think

कुछ कहानियां mind blowing होती है. कहानी भले ही छोटी हो लेकिन life जीने की एक नई शुरुआत करने के लिए काफी है. पढ़ें mind blowing hindi stories about life


Mind Blowing Hindi Stories About Life : कुछ कहानियां mind blowing होती है. कहानी भले ही छोटी हो लेकिन life जीने की एक नई शुरुआत करने के लिए काफी है.


Mind Blowing Hindi Stories About Life : {By:HFB}, शायद ये दुनिया की सबसे छोटी कहानी में से एक है. चलिए पढ़ते है..

  1. एक आदमी रास्ते से गुजर रहा था.
  2. रास्ते के किनारे उसने आम का बगीचा देखा.
  3. चुपके से बाग में गया आम तोड़ा और खाने लगा.
  4. इतने में बगीचे का माली आ गया और यह द्रश्य देखा.
  5. गुस्से में उसने आम खाने वाले आदमी की पीठ पर दो-चार डंडे जमा दीए.
  6. आदमी रोता हुआ बगीचे से भाग खड़ा हुआ.

6 पंक्ति की ये छोटी सी कहानी यहीं पर खत्म होती है.

आइए अब हम आपको इस कहानी की हकीकत समझाते है.

आप सोचिए की जब वो आदमी रास्ते से गुजर रहा था  और उसकी नजर रास्ते के किनारे वाले आम के बगीचे पर पड़ी तब उसके मन में आम खाने का विचार आया.

तो आम देखे किसने ?

आँख ने...

अब क्या आँख चलकर पेड़ के पास जा सकती है ? नहीं

तो चलकर गए कौन ?

पैर...

यानी जिसने देखा वो गया नही..

अब पैर चाहे तो पेड़ से फल तोड़ सकते है ? नहीं

तो तोड़ा किसने ? हाथ ने..

यानी जिसने देखा वो गया नही, जो गया उसने तोड़ा नही..

अब बताइए क्या हाथ से आम चखना मुमकिन है ? क्या हाथ को आम का स्वाद मिल जाएगा की फल खट्टा है या मीठा है ???

यानी जिसने देखा वो गया नही, जो गया उसने तोड़ा नही, जिसने तोड़ा उसने चखा नही..

चखा किसने ? जीभ ने..

अब जीभ ने तो अद्भुत काम किया उसने आम चखा जरूर पर रखा नही...

यानी जिसने देखा वो गया नही, जो गया उसने तोड़ा नही, जिसने तोड़ा उसने चखा नही, जिसने चखा उसने रखा नही..

रखा किसने ? पेट ने..

कहानी के अनुसार इस आदमी को चोरी-छुपे आम खाते हुए बगीचे के माली ने देख लिया. और उसकी पीठ पर जोरो से डंडे मारने लगा.

अब सोचिए इस पूरे माजरे में पीठ का लेना न देना. आम देखा आँखने, गए पैर, तोड़ा हाथने, चखा जीभने, रखा पेटने, और पीटे पीठ 😨

एक ज्ञानी को किसी ने ये कहानी सुनाई. तो उसने कहा इस कहानी में ही तुम्हारा जवाब मौजूद है.. पूछा

" कैसे.. "

" पीठ में डंडे पड़े तो दर्द हुआ ?.. "

" हाँ, हुआ.. "

" जब दर्द हुआ तो रोया कौन ? आँसू कहाँ से निकले ? आँख से न.. "

मतलब ये की चाहे जितने चक्कर के बाद मिले पर फल उसीको मिलेगा जिसका गुनाह है..




एक विनती : इस कहानी का शीर्षक क्या होना चाहिए ? कमेंट में जरूर बताएं...


* If you like this mind blowing hindi stories about life must share on Facebook and Twittter.



No comments: